उत्तर प्रदेश

Akhilesh Yadav Varanasi: मोदी को जवाब देने बनारस की सड़कों पर आज उतरेंगे अखिलेश यादव

अखिलेश यादव वाराणसी समाजवादी पार्टी के नेता और पूर्व प्रधानमंत्री अखिलेश यादव ने भी बीजेपी को जवाब देने के लिए पूर्वांचल में पूरी ताकत झोंक दी है. अब चुनाव प्रचार पूरी तरह से बनारा और आसपास के जिलों में ही सिमट कर रह गया है. ऐसे में सपा नेता अखिलेश यादव आज मऊ, गाजीपुर, चंदौली और वाराणसी में सपा गठबंधन उम्मीदवारों के फायदे के लिए चुनावी रैलियां करेंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रोड शो का जवाब देने के लिए अखिलेश बनारा की सड़कों पर भी उतरेंगे. वाराणसी में सपा प्रमुख के रोड शो को लेकर पार्टी की ओर से जोरदार तैयारी की गई है. अखिलेश के रोड शो के लिए सिर्फ दो घंटे का समय दिया गया है और समाजवादी पार्टी ने इस पर गहरा असंतोष जताया है. पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और एमएलसी डॉ. संजय लाठेर का कहना है कि वाराणसी जिला प्रशासन पूर्वाग्रह पर काम कर रहा है.

चुनावी सभा में गठबंधन ने दिखाई ताकत

छठे चरण का वोट खत्म होने के बाद अब अखिलेश यादव ने भी खुद पूर्वांचल में पूरी ताकत झोंक दी है. इस बार उनका इरादा बनारस में सपा की ताकत दिखाने का है, जो प्रधानमंत्री मोदी का गढ़ माना जाता है। उन्होंने तृणमूल कांग्रेस की सांसद और पश्चिम बंगाल की प्रधानमंत्री ममता बनर्जी के साथ मिलकर कल ऐडहे में सपा गठबंधन के लिए एक बड़ी चुनावी रैली भी की थी. इस चुनावी सभा में ममता और अखिलेश के अलावा सपा गठबंधन के तमाम बड़े चेहरे मौजूद थे.

इस बैठक में वक्ताओं में रालोद प्रमुख जयंत चौधरी, सुभाषपा प्रमुख ओमप्रकाश राजभर, अपना दल कामेरावाड़ी से कृष्णा पटेल, शिवपाल सिंह यादव, जया बच्चन, राम गोपाल यादव, किरणमय नंदा आदि शामिल थे। अब अखिलेश यादव काशी शुक्रवार को वापस आ गए हैं और कोशिश करेंगे कि यहां सपा गठबंधन के उम्मीदवारों की चुनावी स्थिति मजबूत करें.

टक्कर बचाने के लिए बस दो घंटे

आज वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का रोड शो है और उसके बाद आने वाले अखिलेश यादव के रोड शो पर सबकी निगाहें हैं. अखिलेश यादव का शाम 4:45 बजे वाराणसी पहुंचने का कार्यक्रम है. अखिलेश यादव के रोड शो के लिए जिला प्रशासन की ओर से 20:00 से 22:00 बजे तक का समय दिया गया है. जानकारों का कहना है कि पीएम मोदी के रोड शो से टकराव से बचने के लिए यह कदम उठाया गया है.

उधर, समाजवादी पार्टी ने प्रशासन के इस फैसले पर गहरा असंतोष जताया है. सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता और एमएलसी डॉ संजय लाठेर ने कहा कि प्रशासन ने भेदभावपूर्ण फैसला लिया है और चुनाव आयोग से शिकायत की जाएगी. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के रोड शो के लिए 6 घंटे का समय दिया गया है जबकि एसपी के पास सिर्फ 2 घंटे हैं और प्रशासन का यह फैसला पूरी तरह से गलत है.

रोड शो पर एसपी ने लगाया बल

सपा नेता ने कहा कि पार्टी ने जिस सड़क को हटाने की अनुमति मांगी थी वह भी नहीं दी गई, यह कहते हुए कि प्रशासन ने प्रधानमंत्री के रोड शो के संदर्भ में रात में केवल 2 घंटे की अनुमति दी है. अखिलेश यादव के रोड शो को सफल बनाने के लिए समाजवादी पार्टी ने पूरी ताकत झोंक दी है. इसके लिए एसपी अधिकारियों को अलग-अलग जिम्मेदारियां सौंपी गई हैं और माना जा रहा है कि एसपी इस रोड शो के जरिए अपनी ताकत भी दिखाएंगे.

कई जगहों पर एसपी ने दी कड़ी चुनौती

इस बार वाराणसी जिले के 8 पंचायतों में कड़ा मुकाबला है. कई जगह सपा और कांग्रेस के उम्मीदवार बीजेपी उम्मीदवारों को कड़ी चुनौती देते नजर आ रहे हैं. यही कारण है कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और सपा नेता अखिलेश यादव ने चुनाव प्रचार के आखिरी दिनों में वाराणसी में अपनी पूरी ताकत झोंकने का फैसला किया है.

शहर की दक्षिणी सीट बहुत महत्वपूर्ण मानी जाती है, जहां काशी विश्वनाथ मंदिर का क्षेत्र भी आता है। ऐसे में सपा ने बीजेपी प्रत्याशी डॉ. नीलकंठ तिवारी ने महंत परिवार से किशन दीक्षित को प्रसिद्ध महामृत्युंजय मंदिर में स्थापित किया। इस स्थान पर कड़ी प्रतिस्पर्धा पर विचार किया जा रहा है। कई अन्य जगहों पर भी सपा गठबंधन के उम्मीदवार मजबूती दिखा रहे हैं। यही वजह है कि सपा नेता अखिलेश यादव इस बार वाराणसी में पूरी ताकत झोंक रहे हैं.

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button