उत्तर प्रदेश

Baghpat News: देश के सबसे हाईटेक एक्सप्रेस-वे पर आई दरारें, निर्माण पर उठ रहे सवाल

देश के सबसे हाईटेक ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे के निर्माण के कुछ ही देर बाद गड्ढों के साथ-साथ दरारें भी दिखने लगीं. गड्ढों के कारण टायर फटने से भी आए दिन हादसे होते रहते हैं। अब बढ़ती दरारों की वजह से वाहन चालक निर्माण कार्य को लेकर भी सवाल पूछ रहे हैं।

मोटर मार्ग के साथ विभिन्न स्थानों में गड्ढे और दरारें

बता दें कि 11 हजार करोड़ की लागत से देश में वाहनों की सबसे तेज रफ्तार वाला 135 किमी लंबा मोटर मार्ग बनकर तैयार हुआ है। एनएचएआई ने कई राज्यों को जोड़ने वाले हाईवे पर वाहनों की रफ्तार 120 किमी/घंटा निर्धारित की है। लेकिन यहां के चालक निर्धारित गति से अधिक वाहन चलाते हैं और दौड़ने की कोशिश भी करते हैं। लेकिन हाईवे के खिंचाव पर छेद के साथ-साथ निर्माण के कुछ दिनों बाद दरारें भी दिखने लगीं।

आए दिन गड्ढों व दरारों से हादसे होते रहते हैं

कई बार अधिकारियों से शिकायत भी की गई, लेकिन सभी बहाने बनाकर लौट गए। आए दिन गड्ढों और दरारों से दुर्घटनाएं भी होती रहती हैं। इसका कारण यह है कि तेज रफ्तार वाहनों के टायर गड्ढों या दरारों में उड़ गए। गड्ढों की चपेट में आने से कई लोगों की जान भी जा चुकी है।

कंपनी ने मानक के अनुसार सामग्री का उपयोग नहीं किया: चालक

अब गड्ढों सहित सड़क पर आने वाली दरारों की संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है। चालक जितेंद्र, राहुल, मनोज आदि का कहना है कि निर्माण कंपनी ने मानक के अनुसार सामग्री का उपयोग नहीं किया है। कार्य करके कार्य पूर्ण किया गया। अगर इस सामग्री का इस्तेमाल किया जाता तो सड़क में गड्ढों और दरारों से लोगों की मौत नहीं होती। चालकों ने निर्माण की जांच कराकर एनएचएआई से कार्रवाई की मांग की है।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button