उत्तर प्रदेश

Baghpat: गन्ना उठान नहीं होने से तौल प्रभावित, परेशान किसानों ने किया विरोध प्रदर्शन

पिछले पांच दिनों से बागपत के खेकरा तहसील क्षेत्र के संक्रोड गांव के बागपत मिल स्थित तौल केंद्र पर गन्ना नहीं उठाये जाने के कारण तौल नहीं हो रही है. इससे किसानों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, जिसका किसानों ने विरोध किया है और असंतोष जताया है.

एक सीजन में 350 लाख क्विंटल गन्ना मिल तक पहुंचाया जाता है: किसान

किसानों ने बताया कि सांकरौद गांव में तौल केंद्र से एक सीजन के दौरान करीब 350 लाख गन्ना मिल तक पहुंचाया जाता है. इसके बाद भी अधिकारी उन्हें परेशान करने में कोई कसर नहीं छोड़ते। ऐसे में अधिकारी यहां से जुड़े किसानों को बेहतरीन सुविधाएं मुहैया कराएं. गन्ना उठाने के लिए दो दिन से केंद्र के बाहर दो ट्रक खड़े हैं, लेकिन अधिकारियों ने उठाने के निर्देश नहीं दिए हैं, जिससे चालक भी परेशान है. किसानों का आरोप है कि अधिकारी फोन नहीं उठाते। अगर आप गलती से फोन उठा लेते हैं तो बात न करें। यदि उपयोगिता अधिकारियों का यही रवैया रहा तो वे आंदोलन करने को मजबूर होंगे।

दो सप्ताह में तीन बार ही होती है तौल : किसान

किसान अनुज, कपिल, देवेंद्र, सोमपाल, धीरज, कृष्णपाल आदि का कहना है कि अधिकारी उन्हें परेशान करने के लिए गन्ना उठाने की अनुमति नहीं देते हैं। दो हफ्ते में सिर्फ तीन बार तौल होती है। इससे खेत में पड़ा गन्ना सूखता जा रहा है। कई बार हमने मांग की है कि प्रशासक समय पर तौल कराएं, लेकिन अधिकारी इस ओर ध्यान नहीं देते। अधिकारी सतर्क रहे तो सप्ताह में तीन बार तुलाई हो सकती है। वहीं इस दौरान प्रदर्शन करने वालों में रामहर, विपिन, बॉबी, ओमपाल, मंगेराम, अनुज आदि शामिल थे.

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button