उत्तर प्रदेश

Firozabad News: सड़क पर कब्जा कर बनाई गई मजार, बाद में दुकान बनाकर कर बेचा गया सरकारी जमीन

शिकोहाबाद जिला थाने के शंभू नगर जसलाई रोड पर पालीवाल चौक पर एक छोटा सा मंदिर था। जिसे मुतवल्ली दो दुकान और एक पीछे के कमरे में बदल गया। उसने दुकान किराए पर ली और उसे कब्रगाह में बंद कर दिया, जो पूरी तरह से राज्य सड़क की जमीन को घेरकर बनाया गया था, फिर जिस दुकान और कमरे में कब्र स्थित थी, उसे बेच दिया।

जब अन्य हितधारकों को मज़ार के नाम पर मूल्यवान राज्य भूमि बेचकर भारी राशि के बारे में पता चला, तो नए सह-मालिक ने सड़क पर कब्जा कर लिया और एक नया मजार बनाया। सड़क पर नया रोजगार, नई कब्र सड़क पर फिर होगा अतिक्रमण, राहगीरों को होगी परेशानी अगर प्रशासन ने इस पर ध्यान नहीं दिया तो यह कहानी फिर दोहराई जाएगी। इन माफिया माफियाओं के नाम पर सरकार की बेशकीमती जमीन जब्त की जाएगी।

इस मजार ने चुने खां के बारे में सुना है। इसके मुतवल्ली शरीफ खान थे, जिन्होंने मकबरे को बड़ा किया और एक कमरे में दो दुकानें बनाईं। सड़क पर कब्जा करने के बाद सड़क मुड़ गई, लेकिन सरकारी सड़क पर बने छोटे से मंदिर को पहले एक कमरे में बदला गया, फिर सड़क किनारे दो दुकानें बनाकर किराए पर उठाई गईं।

प्रशासन करता है तमाशा

कुछ देर बाद सड़क पर अतिक्रमण कर बनाई गई दुकान और परिसर को बेच दिया गया। कमरे के अंदर एक मजार था, जब शरीफ की बहन आयशा को पता चला कि उनके भाई ने जमीन बेचकर अच्छी कमाई की है, तब आयशा ने एक दर्जन पुरुषों और महिलाओं को अपने साथ ले जाकर एक नई मजार बनाना शुरू कर दिया। और सरकारी सड़क पर कब्जा कर लिया गया था। सूचना पर पहुंची पुलिस किसी प्रशासनिक अधिकारी के आदेश के अभाव में तमाशबीन बनी रही और सरकारी जमीन पर कब्जा कर लिया गया.

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button