इंदौर न्यूज़

Indore News : बिजली कर्मचारियों को CGM और संयुक्त सचिव ने दी गाइड लाइन

इलेक्ट्रीशियन एक सुरक्षा कवच तैयार करके अपनी और अपने संसाधनों की रक्षा कर सकते हैं। यह जीवन में खुशियां लाएगा, नहीं तो हादसों को न्यौता देने में देर नहीं लगती। किसी दुर्घटना के कारण देरी होने वाली लाइनों पर बिजली कंपनी के लाइन स्टाफ को पहले सुरक्षा उपकरण का उपयोग करना चाहिए, पुष्टि करनी चाहिए कि लाइन बंद है और फिर पोल पर चढ़ना चाहिए।

यह बातें मध्य प्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के मुख्य महाप्रबंधक श्री रिंकेश कुमार वैश्य ने कही। उन्होंने इंदौर ग्रामीण सर्कल पर लाइन स्टाफ प्रशिक्षण पाठ्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में बात की। उन्होंने कहा कि शिक्षा नीति की भावना और अक्षर का पालन करने पर जोर दिया गया है, जिसका उद्देश्य मानव संसाधनों का बेहतर उपयोग करना और दुर्घटनाओं से बचना है।

आत्मविश्वास रखो
संयुक्त सचिव श्री तरुण उपाध्याय ने कहा कि बिजली किसी की मित्र नहीं है, हमें इसे दुश्मन मानकर हर समय सतर्कता बरतनी चाहिए। विद्युत कार्य के दौरान अहंकार से बचें। मानव जीवन बहुमूल्य है। हम पढ़ने-लिखने में सक्षम होने के बाद लाइन वर्क के लिए आते हैं। इसलिए बिजली से संबंधित कोई भी कार्य समझदारी से, सुरक्षा उपकरणों के प्रयोग, गाइडलाइन का पालन और पुष्टि के बाद ही करना चाहिए।

अपना समय लें, लेकिन अपनी जान जोखिम में डालकर लाइन का काम न करें। सभी सुरक्षा मानकों का पालन करके लोगों की जान बचाई जा सकती है। यह हमारे जीवन और हमारी सेवा दोनों को कुशल बनाए रखेगा। इस अवसर पर ग्रामीण अधीक्षण अभियंता श्री डीएन शर्मा ने बताया कि 34 वितरण केन्द्रों पर लाइन स्टाफ विभिन्न समय पर सुरक्षा प्रशिक्षण प्राप्त करता है। संचालन पादरी गरिमा अग्रवाल ने किया।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button