बिज़नेस

NSE Scam : चित्रा रामकृष्ण के सलाहकार आनंद सुब्रमण्यम पर CBI की कार्रवाई, चेन्नई से गिरफ्तारी

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई जांच) ने गुरुवार देर रात बड़ी कार्यवाही की, एनएससी (नेशनल स्टॉक एक्सचेंज) के पूर्व सीईओ और पूर्व सीईओ चित्रा रामकृष्ण के सलाहकार, आनंद सुब्रमण्यम (चेन्नई से पुलिस ने आनंद सुब्रमण्यम को गिरफ्तार किया) को चेन्नई से गिरफ्तार किया गया है। आपको बता दें कि चित्रा रामकृष्ण पर पहले भी एक गुमनाम योगी की ओर से एनएससी में लिप्त होने और स्टॉक में हेराफेरी करने का आरोप लग चुका है और सीबीआई ने इसी मामले में पूछताछ और जांच करते हुए आनंद सुब्रमण्यम को गिरफ्तार किया है.

रामकृष्ण ने अपने ऊपर लगे आरोपों को निराधार बताया।

आपको बता दें कि सीबीआई ने 3 दिन पहले मामले के सिलसिले में आनंद सुब्रमण्यम से पूछताछ की थी, जिसके एक दिन पहले गिरफ्तारी की प्रक्रिया शुरू हुई थी. लेकिन इसके अलावा पूर्व सीईओ चित्रा रामकृष्णा ने एनएससी ऑपरेशन के दौरान अपने ऊपर लगे आरोपों को पूरी तरह निराधार बताया है.

आनंद सुब्रमण्यम पर लगा 3 करोड़ का जुर्माना

सीबीआई ने मामले की जांच के दौरान आनंद सुब्रमण्यम पर 3 करोड़ का जुर्माना भी लगाया है और गुमनामी योगी के संबंध में भी पूछताछ की जा रही है. इसके अलावा, सीबीआई ने आनंद सुब्रमण्यम के पर्याप्त वेतन पैकेज और संपत्ति पर भी संदेह व्यक्त किया है। मौजूदा हालात पर नजर डालें तो अंदाजा लगाया जा सकता है कि आनंद सुब्रमण्यम को दिक्कत है।

जांच के दौरान सीबीआई को एक ईमेल मिला

सीबीआई द्वारा मामले के दौरान दर्ज की गई प्राथमिकी के अनुसार, चित्रा रामकृष्ण ने आनंद सुब्रमण्यम को मुख्य रणनीतिक सलाहकार के रूप में नियुक्त किया और साथ ही हिमालय में रहने वाले एक गुमनाम “योगी” के निर्देशों के अनुसार बड़े वेतन पैकेज के साथ एनएसई के लिए समूह संचालन अधिकारी नियुक्त किया।

सीबीआई को जांच के दौरान एक ई-मेल भी मिला है, जिसके बारे में कहा जाता है कि इसका इस्तेमाल चित्रा रामकृष्ण ने गुमनाम “योगी” को जानकारी और संदेश भेजने के लिए किया था।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button