उत्तर प्रदेश

Sant Kabir Nagar: मासूम अरुण हत्याकांड 24 घंटे के अंदर पुलिस ने किया खुलासा, आरोपी गिरफ्तार

यूपी के संत कबीर नगर को झकझोर देने वाले अरुण की मासूम की हत्या के मामले में पुलिस ने दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है. आपको बता दें कि 24 घंटे पहले माहुली के थाना क्षेत्र में गेहूं के खेत के पास 7 वर्षीय मासूम अरुण का शव मिला था, जिसकी पहचान अरुण के रूप में हुई.

आपको बता दें कि अरुण पिछले 2 दिनों से लापता था और उसकी मां प्रमिला देवी ने कोतवाली खलीलाबाद में गुमशुदगी का मामला दर्ज कराया था. शव मिलने के बाद मृतक की मां ने भी पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया था, मां ने कहा कि अगर पुलिस समय पर सतर्क हो जाती तो मेरा बच्चा जिंदा होता.

पुलिस ने 24 घंटे के अंदर किया खुलासा

घटना का पता लगते ही पुलिस अधीक्षक डॉ कौस्तुभ ने पुलिस टीम को सख्त निर्देश दिए थे कि घटना का जल्द से जल्द खुलासा किया जाए. मासूम पुलिस का शव मिलने के 24 घंटे के भीतर दो आरोपी रविचंद्र मंटू पुत्र सुरेश चंद्र राव और धनेश्वर झूलेलाल पुत्र कैलाश मटिहाना थाना कोतवाली खलीलाबाद में रहते थे.

पूछताछ में आरोपी ने बताया कि प्रमिला को सबक सिखाने के लिए मृतक अरुण की मां ने 4 तारीख को उसके बच्चे को घर से अगवा कर लिया और माहुली थाना क्षेत्र के राम घाट पुल पर सड़क किनारे ले जाकर टेप लगा दिया. उसके हाथ गड्ढे में डाल दिए और उसे पानी में डुबो दिया। जिससे उसकी मौत हो गई। छिपाने के लिए शव को गेहूं के खेत के पास झाड़ी में फेंक दिया।

इस संबंध में पुलिस कप्तान डॉ कौस्तुभ ने बताया कि शव के पास मिले कंगन व बंधन आरोपियों द्वारा पुलिस को गुमराह करने और यह साबित करने के लिए रखे गए थे कि हत्या जादू टोना के कारण हुई है.

बच्ची को अगवा करने के आरोपित के पास से दोपहिया वाहन जिसका रजिस्ट्रेशन नंबर यूपी 58k 0723, सैमसंग ओप्पो कंपनी के दो एंड्रायड मोबाइल व 500 रुपये नकद बरामद हुए हैं.

पुलिस कप्तान ने बताया कि शुरुआती पूछताछ में आरोपी परिजनों के साथ पुलिस के सहयोग से सामने आता रहा, बाद में उसकी भूमिका संदिग्ध लगी, जिससे वह भागने की कोशिश करने लगा और मुखबिर से सही सूचना मिलने पर उसे पकड़ लिया गया.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button