उत्तर प्रदेश

Sonbhadra: सपा युवजन सभा के सचिव को जान से मारने की मिली धमकी, तीन BJP कार्यकर्ताओं के खिलाफ FIR दर्ज

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में जैसे ही वोट की तारीख (सोनभद्र चुनाव तिथि 2022) नजदीक आती है, चुनाव प्रचार के दौरान चिंता की स्थिति देखी जाती है। ऐसा ही एक मामला घोरावल विधानसभा क्षेत्र में समाजवादी पार्टी के पल्ली सचिव युवजन सभा श्वेत सिंह पटेल को धमकी देने के मामले का कुछ लोगों ने पर्दाफाश किया है.

अपमानित नेता ने उन पर सपा के लिए प्रचार न करने की धमकी देने का आरोप लगाया है. इस बारे में एक आवाज सोशल मीडिया पर वायरल होने की भी खबर है। सपा नेता का दावा है कि जिन तीन आरोपियों ने उन्हें धमकी दी, वे भाजपा कार्यकर्ता हैं। इसके आधार पर पुलिस ने विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

यह है पूरी घटना

घोरावल थाना क्षेत्र के सरवत भगवा के गांव निवासी श्वेत सिंह पटेल पुत्र सूर्यमणि सिंह ने रविवार देर रात पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. बताया गया कि 26 फरवरी 2022 की मध्यरात्रि में शाहगंज थाना क्षेत्र के टेटी माइनर निवासी मनीष केशरी पुत्र जोखन, शाहगंज निवासी सचिन पांडेय अज्ञात पुत्र शाहगंज थाना क्षेत्र के सुशील सिंह अपने घर आए. और उससे पूछा, एक स्वर में चिल्लाया।

आरोप है कि जब वह बाहर आए तो उन्हें सपा के लिए प्रचार न करने के लिए कहा गया और उन पर भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में प्रचार करने का दबाव बनाया गया। सपा नेता का कहना है कि जब उन्होंने इसका विरोध किया तो उन्हें पीटा गया और जान से मारने की धमकी दी गई। बाद में उक्त लोगों ने उनके मोबाइल पर फोन किया और भाजपा के लिए प्रचार नहीं करने पर भयानक परिणाम भुगतने की चेतावनी दी।

घटना को लेकर राजनेता भड़के

सोमवार को लोगों को भाजपा के तीन कथित कार्यकर्ताओं के खिलाफ प्राथमिकी की सूचना मिलते ही नीति गर्म हो गई। सपा के लोग जहां भाजपा के लोगों पर सत्ता में डूबे रहने और चुनाव प्रचार में बल प्रयोग करने का आरोप लगाने लगे, वहीं भाजपा के वही लोग मतदाताओं को इसकी आड़ में मतदाताओं की सहानुभूति हासिल करने के लिए कहने लगे. बता दें कि घोरावल के लिए सियासी समीकरण फिलहाल काफी पेचीदा है. जहां एक तरफ सपा का अपना दल कमरवाड़ी से गठबंधन है।

वहीं, बीजेपी का अपना दल सोनेलाल के साथ गठबंधन है। पटेल मतदाता दोनों गठबंधन दलों के आधार मतदाता हैं। मौजूदा घोरावल समीकरण में पटेल वोटरों की भूमिका अहम हो गई है. चाहे उनका झुकाव भाजपा की ओर हो या सपा की ओर, लोगों की निगाहें भी इस पर टिकी हैं। ऐसे में जैसे ही श्वेत सिंह पटेल द्वारा तीन कथित भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ थाने में मामला दर्ज कराने की जानकारी सामने आई तो इसी तरह की चर्चा शुरू हो गई.

पुलिस ने विभिन्न प्रकरणों के दौरान मामला उठाया

इस मामले की जानकारी मांगते हुए निरीक्षक देवतानंद सिंह ने बताया कि ग्रामीण श्वेत सिंह पटेल पुत्र सूर्यमणि सिंह की शिकायत पर शाहगंज थाना क्षेत्र के टेटी माइनर बस्ती निवासी मनीष केशरी पुत्र जोखन, ओधथा ग्रामीण का पुत्र सचिन पांडेय अज्ञात व शाहगंज अंजान सिंह। उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 171 (सी), 504 और 506 के तहत मामला दर्ज किया गया है और तहरीर में उल्लिखित मामलों के आधार पर जांच शुरू की गई है।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button